हमारा अनुसरण करें : facebook twitter linkedin Instagram
REC Limited

मीडिया लाउंज

आरईसीपीडीसीएल ने स्मार्ट मीटरिंग को लेकर गुजरात सरकार के साथ एमओयू पर किए हस्ताक्षर
तारीख 04-01-2024

गुरुग्राम, 4 जनवरी 2024 - आरईसी पावर डेवलपमेंट एंड कंसल्टेंसी लिमिटेड (आरईसीपीडीसीएल), जो कि आरईसी लिमिटेड की पूर्ण स्वामित्व वाली सहायक कंपनी है,  उसने आरडीएसएस के कार्यान्वयन के लिए गुजरात सरकार के साथ एक समझौता ज्ञापन (एमओयू) पर हस्ताक्षर किया है। इस एमओयू के तहत आरईसीपीडीसीएल पीजीवीसीएल (पश्चिम गुजरात विज कंपनी लिमिटेड) के माध्यम से आरडीएसएस परियोजना के पहले चरण को लागू करेगी। इस एमओयू के अनुसार परियोजना की वित्तीय सहायता 2094.28 करोड़ रुपये होगी। 

वाइब्रेंट गुजरात समिट 2024 से पहले श्री जय प्रकाश शिवहरे, आईएएस, एमडी, जीयूवीएनएल और श्री राजेश कुमार गुप्ता, सीईओ, आरईसीपीडीसीएल द्वारा गुजरात के माननीय मुख्यमंत्री, श्री भूपेन्द्र पटेल की उपस्थिति में एमओयू पर हस्ताक्षर किए गए।

इस एमओयू के तहत, गुजरात सरकार राज्य में अपनी आगामी परियोजनाओं के लिए आवश्यक अनुमतियां और मंजूरी प्राप्त करने में आरईसीपीडीसीएल को सुविधा प्रदान करेगी। यह पहल राज्य सरकार की मौजूदा नीतियों, नियमों और विनियमों के अनुरूप है, जो विकास और नवाचार को बढ़ावा देने की प्रतिबद्धता को प्रदर्शित करती है।

एमओयू गुजरात में आरईसीपीडीसीएल की परियोजनाओं की स्थापना को सुव्यवस्थित करने के लिए एक समयबद्ध रूपरेखा तैयार करता है। यह साझेदारी व्यवसायों और परियोजनाओं के लिए अनुकूल वातावरण प्रदान करने, आर्थिक विकास और सतत विकास में योगदान देने के लिए राज्य के समर्पण को रेखांकित करती है।

ऊर्जा मंत्रालय के तहत 1969 में स्थापित महारत्न सीपीएसई- आरईसी लिमिटेड ऊर्जा-बुनियादी ढांचा क्षेत्र के लिए दीर्घकालिक ऋण और अन्य वित्त उत्पाद प्रदान करता है जिसमें उत्पादन, ट्रांसमिशन, वितरण, नवीकरणीय ऊर्जा और इलेक्ट्रिक वाहन, बैटरी स्टोरेज और ग्रीन हाइड्रोजन जैसी नई प्रौद्योगिकियां शामिल हैं। आरईसी ने हाल ही में गैर-विद्युत अवसंरचना क्षेत्र में भी विविधता ला दी है, जिसमें सड़क और एक्सप्रेसवे, मेट्रो रेल, हवाई अड्डे, आईटी संचार, सामाजिक और वाणिज्यिक अवसंरचना (शैक्षिक संस्थान, अस्पताल), बंदरगाह तथा स्टील और रिफाइनरी जैसे विभिन्न अन्य क्षेत्र के लिए इलेक्ट्रो-मैकेनिकल (ई एंड एम) कार्य शामिल हैं। आरईसी की ऋण पुस्तिका 4.74 लाख करोड़ रुपये से अधिक है।

पृष्ठ को अंतिम बार अद्यतन किया गया: 17/05/2024 - 10:26 PM
  • आगंतुकों की संख्या :