हमारा अनुसरण करें : facebook twitter linkedin Instagram Youtube
REC Limited

मीडिया लाउंज

आरईसी के वित्तीय वर्ष 24 की चौथी एवं 12वीं तिमाही के वित्तीय परिणाम घोषित
तारीख 30-04-2024

अब तक का सर्वाधिक 14,019 करोड़ रूपए का वार्षिक निवल लाभ

5 रूपए प्रति शेयर का अंतिम लाभांश घोषित

मुंबई, 30 अप्रैल 2024 : आरईसी लिमिटेड के निदेशक मंडल ने आज 31 मार्च 2024 को समाप्त तिमाही और वर्ष के लिए लेखापरीक्षित एकल एवं समेकित वित्तीय परिणामों को मंजूरी दे दी है।

प्रचालन एवं वित्तीय प्रदर्शन के मुख्य बिंदु: Q4 FY23 की तुलना में Q4 FY24 (स्टैंडअलोन)

- प्रचालनों से राजस्व: ₹ 10,113 करोड़ की तुलना में ₹ 12,613 करोड़, 25% की वृद्धि

- कुल आय : ₹ 10,124 करोड़ की तुलना में ₹ 12,643 करोड़, 25% की वृद्धि

- निवल ब्याज आय: ₹ 3,409 करोड़ की तुलना में ₹ 4,407 करोड़, 29% की वृद्धि

- निवल लाभ: ₹ 3,001 करोड़ की तुलना में ₹ 4,016 करोड़, 34% की वृद्धि

- कुल कम्पृहेंसिव आय: ₹ 3,645 करोड़ की तुलना में ₹ 5,183 करोड़, 42% की वृद्धि

- यील्ड: 9.65% की तुलना में 10.03%, 38 बीपीएस की वृद्धि

- फंड की औसत लागत: 7.17% की तुलना में 7.14%, 3 बीपीएस की कमी

- स्प्रेड: 2.48% की तुलना में 2.89%, 41 बीपीएस की वृद्धि

- निवल इंट्रेस्ट मार्जिन: 3.29% की तुलना में 3.60%, 31 बीपीएस की वृद्धि

- नेट वर्थ पर रिटर्न: 21.34% की तुलना में 24.06%, 13% की वृद्धि

प्रचालन एवं वित्तीय प्रदर्शन के मुख्य बिंदु: 12M FY23 की तुलना में 12M FY24 (स्टैंडअलोन)

- कुल स्वीकृतियां: ₹ 2,68,461 करोड़ की तुलना में ₹ 3,58,816 करोड़, 34% की वृद्धि, जिसमें से नवीकरणीय ऊर्जा के क्षेत्र की स्वीकृतियां: ₹ 21,554 करोड़ की तुलना में ₹ 1,36,516 करोड़, 533% की वृद्धि

नवीकरणीय ऊर्जा संबंधी स्वीकृतियों में निम्नलिखित क्षेत्र सम्मिलित हैं:

  • सौर ऊर्जा: ₹ 9,301 करोड़ की तुलना में ₹ 20,956 करोड़
  • मॉड्यूल विनिर्माण: ₹ शून्य की तुलना में ₹ 21,565 करोड़
  • वृहद हाइड्रो: ₹ 682 करोड़ की तुलना में ₹ 32,450 करोड़
  • पंप स्टोरेज: ₹ 6,075 करोड़ की तुलना में ₹ 28,304 करोड़
  • ग्रीन हाइड्रोजन: ₹ शून्य की तुलना में ₹ 7,997 करोड़
  • ई-मोबिलिटी: ₹ 2,429 करोड़ की तुलना में ₹ 7,214 करोड़
  • विंड टरबाइन विनिर्माण: ₹ शून्य की तुलना में ₹ 3,195 करोड़
  • पवन ऊर्जा: ₹ 2,436 करोड़ की तुलना में ₹ 3,453 करोड़
  • हाइब्रिड: ₹ 220 करोड़ की तुलना में ₹ 10,098 करोड़
  • अन्य: ₹ 411 करोड़ की तुलना में ₹ 1,284 करोड 

- संवितरण: ₹ 96,846 करोड़ की तुलना में ₹ 1,61,462 करोड़, 67% की वृद्धि
- प्रचालन से राजस्व: ₹ 39,208 करोड़ की तुलना में ₹ 47,146 करोड़, 20% की वृद्धि
- कुल आय : ₹ 39,253 करोड़ की तुलना में ₹ 47,214 करोड़, 20% की वृद्धि
- निवल ब्याज आय: ₹ 13,714 करोड़ की तुलना में ₹ 16,167 करोड़, 18% की वृद्धि
- निवल लाभ: ₹ 11,055 करोड़ की तुलना में ₹ 14,019 करोड़, 27% की वृद्धि
- कुल कम्पृहेंसिव आय: ₹ 10,084 करोड़ की तुलना में ₹ 15,063 करोड़, 49% की वृद्धि
- यील्ड: 9.73% की तुलना में 9.99%, 26 बीपीएस की वृद्धि
- फंड की औसत लागत: 7.28% की तुलना में 7.13%,15 बीपीएस की कमी
- स्प्रेड: 2.45% की तुलना में 2.86%, 41 बीपीएस की वृद्धि
- निवल इंट्रेस्ट मार्जिन: 3.38% की तुलना में 3.57%, 19 बीपीएस की वृद्धि
- नेट वर्थ पर रिटर्न: 20.35% की तुलना में 22.17%, 9% की वृद्धि
- बाजार पूंजीकरण (मार्केट कैपिटलाइजेशन) : ₹ 30,400 करोड़ की तुलना में ₹ 1,18,757 करोड़, 290% की वृद्धि 

एसेट्स की गुणवत्ता में सुधार और स्ट्रेस्ड एसेट्स के प्रभावी समाधान, उधार दरों को पुनर्निधारित करने और वित्तीय लागत के प्रभावी प्रबंधन के कारण, आरईसी कर पश्चात ₹ 14,019 करोड़ के अपने अब तक के सर्वाधिक वार्षिक लाभ को दर्ज करने में सफल रही है। इसके परिणामस्वरूप, 31 मार्च 2024 को समाप्त वर्ष के लिए प्रति शेयर आय (ईपीएस) 27% बढ़कर ₹ 53.11 प्रति शेयर हो गई, जबकि 31 मार्च 2023 को यह ₹ 41.85 प्रति शेयर थी।
 
31 मार्च 2024 तक नेट वर्थ बढ़कर ₹ 68,783 करोड़ हो गई है, जिसमें साल-दर-साल 19% की वृद्धि दर्ज की गई है।
 
लोन बुक में निरंतर वृद्धि हो रही है, और 31 मार्च 2023 के ₹ 4.35 लाख करोड़ की तुलना में यह 17% बढ़कर ₹ 5.09 लाख करोड़ हो गई है। एसेट्स की गुणवत्ता में सुधार के एक प्रमुख संकेत को दर्शाते हुए,  निवल क्रेडिट-इंपेयर्ड एसेट्स 31 मार्च 2023 के 1.01% से घटकर 31 मार्च 2024 के अनुसार 0.86% पर है साथ ही, 31 मार्च 2024 को एनपीए एसेट्स पर प्रोविजनिंग कवरेज रेशियो 68.45% है ।
 
भविष्य में बेहतर संवृद्धि के लिए पर्याप्त अवसर की ओर संकेत देते हुए, कंपनी का कैपिटल एडिक्वेसी रेशियो (सीआरएआर) 31 मार्च 2024 के अनुसार 25.82% है ।
 
अपने शेयरधारकों को लाभ देने की परंपरा को जारी रखते हुए, कंपनी के निदेशक मंडल ने 5 रूपए प्रति इक्विटी शेयर (प्रत्येक ₹ 10/- के अंकित मूल्य पर) का अंतिम लाभांश घोषित किया है, और वित्तीय वर्ष 2023-24 के लिए कुल लाभांश 16 रूपए प्रति इक्विटी शेयर है।

आरईसी लिमिटेड के बारे में -

आरईसी विद्युत मंत्रालय के प्रशासनिक नियंत्रण के अधीन एक महारत्न कंपनी है और आरबीआई के साथ गैर-बैंकिंग वित्त कंपनी (एनबीएफसी), सार्वजनिक वित्तीय संस्थान (पीएफआई) और इंफ्रास्ट्रक्चर फाइनेंस कंपनी (आईएफसी) के रूप में पंजीकृत है। आरईसी उत्पादन, पारेषण, वितरण, नवीकरणीय ऊर्जा और इलेक्ट्रिक वाहन, बैटरी स्टोरेज, पंप स्टोरेज परियोजनाएं, ग्रीन हाइड्रोजन, ग्रीन अमोनिया परियोजनाएं आदि जैसी नई प्रौद्योगिकियों सहित पूरे विद्युत अवसरंचना क्षेत्र को वित्तपोषित कर रहा है। हाल ही में आरईसी गैर-विद्युत अवसंरचना क्षेत्र में भी विविधता लाया है जिसमें सड़क और एक्सप्रेस वे, मेट्रो रेल, हवाई अड्डे, आईटी संचार, सामाजिक और वाणिज्यिक बुनियादी ढांचा (शैक्षणिक संस्थान, अस्पताल), बंदरगाह और अन्य विभिन्न क्षेत्र जैसे इस्पात, रिफाइनरी आदि के संबंध में इलेक्ट्रो-मैकेनिकल (ई एंड एम) कार्य शामिल हैं। आरईसी लिमिटेड देश में बुनियादी अवसंरचना परिसंपत्तियों के निर्माण के लिए राज्य, केंद्र और निजी कंपनियों को विभिन्न परिपक्वता अवधि के ऋण प्रदान करता है।

आरईसी लिमिटेड विद्युत क्षेत्र के लिए सरकार की अग्रणी योजनाओं में प्रमुख रणनीतिक की भूमिका निभा रहा है और प्रधानमंत्री सहज बिजली हर घर योजना (सौभाग्य), दीन दयाल उपाध्याय ग्राम ज्योति योजना (डीडीयूजीजेवाई) और राष्ट्रीय विद्युत निधि (एनईएफ) योजना के लिए नोडल एजेंसी के रूप में चुना गया था, इन योजनाओं के परिणामस्वरूप देश के अंतिम छोर तक वितरण प्रणाली को मजबूत तथा 100% ग्रामीण और घरेलू विद्युतीकरण किया गया। आरईसी को कुछ राज्यों एवं संघ राज्य क्षेत्रों की संशोधित वितरण क्षेत्र योजना (आरडीएसएस) के लिए नोडल एजेंसी भी बनाया गया है। केंद्र सरकार द्वारा आरईसी को पीएम सूर्य घर मुफ्त बिजली योजना की जिम्मेदारी भी दी गई है। दिनांक: 31 मार्च 2024 तक आरईसी की लोन बुक ₹5.09 लाख करोड़ एवं नेट वर्थ ₹68,783 करोड़ रुपये है।

 

पृष्ठ को अंतिम बार अद्यतन किया गया: 18/06/2024 - 05:37 PM
  • आगंतुकों की संख्या :