हमारा अनुसरण करें : facebook twitter linkedin Instagram Youtube
REC Limited

मीडिया लाउंज

आरईसी की सीएसआर परियोजना के अंतर्गत बिहार के भोजपुर में माननीय विद्युत मंत्री ने 12.68 करोड़ रुपये की लागत से 10 मोबाइल स्वास्थ्य क्लिनिक 'डॉक्टर आपके द्वार' का उद्घाटन किया
तारीख 27-11-2022

 माननीय विद्युत और नवीन एवं नवीकरणीय ऊर्जा मंत्री श्री आर. के. सिंह ने बिहार के भोजपुर जिले के सदर अस्पताल में दस मोबाइल स्वास्थ्य क्लीनिक (एमएचसी) की खरीद, परिचालन और रखरखाव के लिए आरईसी की सीएसआर पहल का उद्घाटन किया। इस परियोजना की कुल लागत 12.68 करोड़ रुपये है जो परियोजना के सुचारू संचालन हेतु तीन वर्षों के लिए परिचालन व्यय की सुविधा प्रदान करेगी। इस अवसर पर, माननीय मंत्री श्री आर. के. सिंह ने जोर देते हुए कहा कि ऐसी परियोजनाओं का लाभ गरीबों और समाज के वंचित वर्गों के लोगों तक पहुंचना चाहिए ताकि सभी को बेहतर स्वास्थ्य सुविधाएं प्रदान की जा सके। इस अवसर पर, माननीय मंत्री श्री आर. के. सिंह ने इस बात पर जोर दिया कि ऐसी परियोजनाओं का लाभ गरीब लोगों और समाज के वंचित वर्गों तक पहुंचना चाहिए ताकि सभी को बेहतर स्वास्थ्य सुविधाएं प्रदान की जा सकें। अपने भाषण में उन्होंने यह भी कहा कि परियोजना में तेजी और समय पर प्रगति के लिए जिला प्रशासन की सक्रिय भागीदारी और कार्यान्वयन में शामिल सभी एजेंसियों द्वारा निरंतर निगरानी आवश्यक है। इस कार्यक्रम में आरईसी के निदेशक वित्त श्री अजय चौधरी, भोजपुर के डीडीसी श्री विक्रम विरकर, डॉक्टर्स फॉर यू के अध्यक्ष श्री रजत जैन, सीएसआर के विभागाध्यक्ष श्री भूपेश चंदौलिया और वरिष्ठ सीपीएम पटना श्री जोगीनाथ प्रधान भी शामिल थे। आरईसी, जिला प्रशासन और डीएफवाई के अन्य वरिष्ठ अधिकारी भी इस समारोह में उपस्थित थे।

10 एमएचसी, जिनमें से तीन केवल महिलाओं के लिए हैं, बिहार के भोजपुर जिले के सभी 14 ब्लॉक्स में वंचित आबादी को घर पर प्राथमिक स्वास्थ्य सेवा प्रदान करेंगे। प्रत्येक एमएचसी में अतिरिक्त बुनियादी उपकरण होंगे और एक डॉक्टर, एक नर्स, एक फार्मसिस्ट और एक चालक सह सहायक स्टाफ सहित चार व्यक्तियों की एक टीम होगी। मुफ्त जेनेरिक दवाईयां भी उपलब्ध कराई जाएंगी। प्रत्येक एमएचसी में प्रतिमाह 20 से अधिक शिविर आयोजित किए जाएंगे और प्रतिदिन 50-70 मरीजों का इलाज किया जाएगा।

पृष्ठ को अंतिम बार अद्यतन किया गया: 22/07/2024 - 09:44 AM
  • आगंतुकों की संख्या :